Follow by Email

Friday, August 5, 2016

कभी कभी

कभी कभी मौन
स्तब्ध कर देता है
और शब्द अचंभित
घनघोर बरसती आँखें
सुखाने लगती हैं
धमनियों के रक्त को
और हृदय धड़कनों से 
संन्यास ले लेता है

कभी कभी कुछ भी
होने लगता है
अनायास .... !! 

~ अर्चना 
05-08-2016

No comments:

Post a Comment